Ticker

6/recent/ticker-posts

E-mail का फुल फॉर्म 2021 - E-mail Full Form in Hindi

क्या आप Email Ka Full Form जानते हैं? कुछ लोग ऐसे होंगे जिन्हें इसके बारे में पहले से ही पता होगा परंतु बहुत से लोग ऐसे भी होंगे जिन्हें इसके बारे में नहीं पता होगा। क्या आप ईमेल का फुल फॉर्म, ईमेल क्या हैं या ईमेल से संबंधित किसी भी प्रकार की जानकारी के लिए हमारे इस ब्लॉग पर आए हैं। 

यदि आप ई-मेल से संबंधित किसी भी प्रकार की जानकारी के लिए हमारे इस ब्लॉग पर आए हैं तो आप बिल्कुल सही जगह आ गए हैं। आज इस आर्टिकल में हम ई-मेल से संबंधित सभी प्रकार की जानकारियों को देने वाले हैं, बस आप हमारे इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें। 

मैं वादा करता हूं हमारा यह आर्टिकल पढ़कर आपके मन में ई-मेल से संबंधित जितने भी प्रश्न होंगे आपको उन सारे प्रश्नों के उत्तर मिल जाएंगे। तो चलिए फिर बिना किसी देरी के शुरू करते हैं और ई-मेल के बारे में डीटेल्स में जानकारी प्राप्त करते हैं-

email-full-form

Email Ka Full Form :-

Email का फुल फॉर्म "Electronic Mail" होता हैं जिसे हिंदी भाषा में हम 'इलेक्ट्रॉनिक मेल' कहते हैं। इलेक्ट्रॉनिक मेल एक ऐसा मेल होता है जिसे विद्युत के द्वारा भेजा जाता है।

Raymond Tomlinson को ईमेल का जनक माना जाता है, सर्वप्रथम सन 1971 ईस्वी में इन्होंने ही ARPANET के विभिन्न होस्ट पर उपयोगकर्ताओं के बीच मेल भेजने में सक्षम पहली प्रणाली को विकसित किया था। 


Email Full Form in Hindi :-

जैसा कि ऊपर मैंने आपको बताया कि email का english फुल फॉर्म Electronic mail होता हैं। ईमेल का हिंदी भाषा में फुल फॉर्म "इलेक्ट्रॉनिक मेल" होता है जोकि electronic mail का हिंदी रूपांतरण होता है। 



Email की स्थापना :-

सन 1971 ईस्वी में Raymond Tomlinson ने ARPANET के विभिन्न होस्ट पर प्रयोगकर्ताओं के बीच मेल भेजनें में सक्षम पहली प्रणाली का आविष्कार किया था। 


Email के जनक :-

Raymond Tomlinson को ही ईमेल का जनक माना जाता हैं क्योंकी इन्होंने ही  विभिन्न होस्ट पर प्रयोगकर्ताओं के बीच मेल भेजने में सक्षम पहली प्रणाली को विकसित किया था।



ईमेल क्या होता हैं (What is Email in Hindi):-

ईमेल का पूरा नाम इलेक्ट्रॉनिक मेल होता है, ईमेल किसी मैसेज या डाटा को किसी दूसरे व्यक्ति तक पहुंचाने की एक प्रक्रिया होती है। 

यह प्रक्रिया विद्युत के द्वारा डिजिटली रूप में होती है, यह बहुत ही तीव्र गति से काम करती है। इसको इंटरनेट के द्वारा संचालित किया जाता है।

पहले के समय में जब हमें किसी सूचना को एक जगह से दूसरी जगह भेजना होता था तो हम चिट्ठी का प्रयोग करते थे इसमें बहुत ज्यादा समय तथा बहुत अधिक खर्च भी लगता था। 

परंतु इमेल की सहायता से हम किसी सूचना को एक ही पल में कहीं पर भी भेज सकते हैं, यह प्रक्रिया इंटरनेट के द्वारा संचालित होता है इसीलिए यह बहुत तेजी से काम करता है। किसी व्यक्ति को ईमेल भेजने के लिए हमें उसकी ईमेल आईडी पता होनी चाहिए तभी हम उसको ईमेल कर पाएंगे।



Email Platform :-

कुछ प्रमुख ई-मेल प्लेटफॉर्म इस प्रकार से हैं जिसकी मदद से हम अपनी एक आईडी बनाकर बहुत ही आसानी से ईमेल को भेज और प्राप्त कर सकते हैं। 

  • Gmail
  • Yahoo mail 
  • Outlook 
  • Hotmail



Email Address किस प्रकार होना चाहिए :-

ईमेल एड्रेस में दो भाग होता है पहले भाग को लोकल भाग तथा दूसरे भाग को डोमेन भाग कहते हैं, तथा इन दोनों के भाग के बीच में एक सिंबल बना होता है जो '(@)' इस प्रकार का होता हैं। 


उदाहरण - rahulkumar@gmail.com

यह ईमेल एड्रेस का एक उदाहरण है।

यहां पर सिंबल के पहले वाले को लोकल भाग कहते हैं जिसमें उपयोगकर्ता का नाम या और कुछ भी हो सकता है। सिंबल के पीछे वाले भाग को डोमन भाग कहते हैं इस भाग में  कंपनी का नाम होता है।


Local - ravikumar
Symbol - @
Domain - gmail.com


Email के लाभ :-

ई-मेल से हमें बहुत से प्रकार के लाभ होते हैं जिनमें से कुछ निम्न प्रकार से है-

  • इसकी सहायता से हम किसी सूचना या किसी डाटा को दूसरे व्यक्ति तक बहुत ही आसानी से पहुंचा सकते हैं।
  • इसमें किसी दूसरे व्यक्ति के साथ कम्युनिकेट करके सूचना का आदान प्रदान करना बहुत ही आसान होता हैं। 
  • किसी दूसरी विधियों जैसे- डाक, कोरियर या टेलीफोन की तुलना में यह बहुत ही सस्ता पड़ता है। 
  • आप एक साथ कई लोगों को (एक से अधिक लोगों को ) ईमेल भेज सकते हैं। 
  • यह बहुत तेजी से काम करता है जिस समय हम मेल को सेंड करते हैं यह उसी समय सेंड हो जाता है। 
  • आप अपने डिवाइस में सारे मेल को इकट्ठा करके भी रख सकते हैं। 
  • आपका जब भी मन करे इमेल्स को को पढ़ सकते हैं। 
  • इसमें किसी भी प्रकार के पेपर का यूज नहीं होता है। 
इसके अलावा ईमेल के और भी बहुत से फायदे होते हैं।



Email के द्वारा दी जानें वाली सुविधाएँ (Features of email) :-

ई-मेल हमें बहुत सी प्रकार की सुविधाएं देती है जिनमें से कुछ निम्न प्रकार से हैं- 


1. Reply option :-

जब हमें कोई व्यक्ति मैसेज करता है तो इसका ऑप्शन की मदद से हम उस व्यक्ति को उत्तर दे कर सकते हैं।


2. Forward option :-

किसी ऐसे मेल को जिसे आप किसी दूसरे को भी भेजना चाहते हैं इस ऑप्शन की मदद से आप वह मेल उस व्यक्ति के पास भेज सकते हैं। 


3. Attachment :-

जब हमें किसी मेल में किसी डॉक्यूमेंट, फोटो या किसी वीडियो को अटैच करके भेजना होता है तो यह कार्य हम इस ऑप्शन की सहायता से करते हैं।


4. Delete :-

जब हमारे मेलबॉक्स में बहुत सारे मेल्स हो जाते हैं तथा हम चाहते हैं कि हम कुछ मेल को डिलीट कर दें तो हम इस ऑप्शन के सहायता से मेल को डिलीट कर सकते हैं। 


5. BCC :-

इसका फुल फॉर्म blind carbon copy होता हैं, जिस email address को हम इसमें add करते हैं तो उस व्यक्ति की ईमेल आईडी की हमें कॉपी प्राप्त होती है।


6. Inbox :- 

जितनी भी मेल्स हमारे पास आती वो सारी मेल्स इसी में स्टोर रहती हैं इसे हम इनबॉक्स कहते हैं।


Gmail Ka Full Form :-

Gmail का फुल फॉर्म "Google Mail" होता हैं, जिसे हिंदी भाषा में गूगल मेल भी कहते हैं। 


Gmail की स्थापना :-

Gmail कि स्थापना 1 अप्रैल सन 2004 में हुयी थी, इसको Paul Buchheit के द्वारा बनाया गया था।


Gmail के जनक :-

Paul Buchheit जी को ही Gmail का जनक माना जाता हैं।



Gmail क्या होता हैं :-

जीमेल गूगल द्वारा प्रदान की गई एक फ्री ईमेल सर्विस होती हैं, इसकी सहायता से हम किसी व्यक्ति तक किसी सूचना को आसानी के साथ पहुंचा सकते हैं। जीमेल को 1 अप्रैल सन 2004 ईस्वी में Paul Buchheit के द्वारा बनाया गया, इन्हीं को जीमेल का जनक भी कहते हैं। 

जीमेल के द्वारा हम किसी सूचना या डाटा को किसी दूसरे व्यक्ति तक बहुत ही आसानी के साथ तथा बहुत ही कम समय में पहुंचा सकते हैं इसमें हम फोटो, वीडियो तथा डॉक्यूमेंट को भी अटैच करके भेज सकते हैं तथा किसी दूसरे व्यक्ति से प्राप्त भी कर सकते हैं।



Email तथा Gmail में अंतर :-

Email तथा Gmail में जो अंतर है वह इस प्रकार से है- 


Email :-

  • इसका पूरा नाम electronic mail होता हैं। 
  • यह एक ऐसी प्रक्रिया होती हैं जिससे हम किसी खत या चिट्ठी को जिसमे सूचना लिखी होती हैं, दूसरे व्यक्ति तक पहुंचाते हैं। 
  • Email करने के लिये हमें एक email id बनानी पड़ती हैं। 
  • उदाहरण - ravikumar@yahoo.com, ravikumar@gmail.com ravikumar@Hotmail.com etc.


Gmail :-

  • इसका पूरा नाम Google mail होता हैं। 
  • यह गूगल की एक सर्विस ही होती हैं जिसकी सहायता से हम किसी मेल को दूसरे तक पहुंचाते हैं। 
  • Gmail, गूगल द्वारा प्रदान की गयी एक फ्री सर्विस ही होती हैं जिसपर हम एक id बना कर सूचना को भेज और प्राप्त कर सकते हैं। 
  • उदाहरण - ravikumar@gmail.com



Frequently Asked Questions (FAQ's) :-

Qus 1: ईमेल का फुल फॉर्म क्या होगा?

Ans: Email का फुल फॉर्म "Electronic Mail" होता हैं जिसे हिंदी भाषा में हम 'इलेक्ट्रॉनिक मेल' कहते हैं।

Qus 2: ईमेल क्या है इसके क्या उपयोग है?

Ans: ईमेल किसी मैसेज या डाटा को किसी दूसरे व्यक्ति तक पहुंचाने की एक प्रक्रिया होती है। यह प्रक्रिया विद्युत के द्वारा डिजिटली रूप में होती है, यह बहुत ही तीव्र गति से काम करती है। ईमेल के बहुत से उपयोग होते है जैसे-
  • इसकी सहायता से हम किसी सूचना या किसी डाटा को दूसरे व्यक्ति तक बहुत ही आसानी से पहुंचा सकते हैं।
  • आप एक साथ कई लोगों को (एक से अधिक लोगों को ) ईमेल भेज सकते हैं। 
  • आप अपने डिवाइस में सारे मेल को इकट्ठा करके रख सकते हैं। 
इन सबके अलावा ईमेल के और बहुत से उपयोग होते है। 


      आज आपने क्या सीखा :-

      आज इस आर्टिकल में हमने ई-मेल तथा जीमेल से संबंधित बहुत सी प्रकार की जानकारियों को प्राप्त किया, इस आर्टिकल में हमने email ka full form, ईमेल क्या हैं, इसकी स्थापना, इसके जनक तथा इसके अलावा gmail ka full form, जीमेल क्या हैं, इसकी स्थापना तथा इसके जनक और ईमेल तथा जीमेल में अंतर इत्यादि टॉपिक्स के बारे में जानकारी प्राप्त की। 

      अगर आपने हमारे इस आर्टिकल को पूरा पढ़ा होगा तो अब तक आपको ईमेल तथा जीमेल से संबंधित बहुत सी प्रकार की नई जानकारी अवश्य प्राप्त हुई होंगी।

      मैं आशा करता हूं दोस्तों हमारा यह आर्टिकल email ka full form आपको जरूर पसंद आया होगा तथा हमारे इस आर्टिकल को पढ़कर आपको कुछ न कुछ जानकारी अवश्य प्राप्त होगी।

      मैं आशा करता हूं दोस्तों हमारा यह आर्टिकल पढ़कर आपको आपके उस प्रश्न का उत्तर भी मिल गया होगा जिसके लिए आप हमारे इस ब्लॉग पर आए थे। 

      दोस्तों हमारा यह आर्टिकल आपको कैसा लगा हमें नीचे कमेंट करके जरूर बताएं तथा यदि हमारे इस आर्टिकल से संबंधित आपके मन में कोई प्रश्न है तो वह भी हमें नीचे कमेंट करके जरूर बताएं। 

      यदि आप हमसे कुछ पूछना चाहते हैं या हमसे बात करना चाहते हैं तो वह भी हमें नीचे कमेंट करके बताएं, मुझे आपके फीडबैक का इंतजार रहेगा, अगर हमारा यह आर्टिकल email ka full फॉर्म आपको अच्छा लगा हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ तथा सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर भी शेयर करें (धन्यवाद)

      एक टिप्पणी भेजें

      0 टिप्पणियाँ