क्या आप mms ka full form जानते हैं? शायद आपको इसके बारे में पहले से ही पता हो परंतु बहुत से लोग ऐसे भी होंगे जिनको इसके बारे में नहीं पता होगा। 

एमएमएस क्या है तथा इसका फुल फॉर्म क्या होता है इसके अलावा एमएमएस से संबंधित बहुत से प्रकार के प्रश्न आपके मन में होंगे।

क्या आप एमएमएस से संबंधित किसी भी प्रकार के प्रश्न के उत्तर के लिए हमारे इस ब्लॉग पर आये हैं, यदि आप एमएमएस से संबंधित किसी भी प्रकार के प्रश्नों के उत्तर के लिए हमारे इस ब्लॉग पर आए हैं तो आप बिल्कुल सही जगह आ गए हैं। 

आज इस आर्टिकल में हम एमएमएस से संबंधित सभी प्रकार की जानकारियों को देने वाले हैं।

मैं वादा करता हूं हमारा यह आर्टिकल पढ़कर आपके मन में एमएमएस से संबंधित जितने भी प्रश्न होंगे उन सारे प्रश्नों के उत्तर आपको मिल जाएंगे।
 
mms ka full form

तो चलिए फिर शुरू करते हैं और इसके बारे में जानकारी प्राप्त करते हैं-

MMS Ka Full Form :-


MMS का फुल फॉर्म "Multimedia Messaging Service" होता हैं, इसे हिंदी में "मल्टीमीडिया संदेश सेवा" कहते हैं।

M - Multimedia 
M - Messaging 
S - Service.

SMS की सहायता से आप केवल टेक्स्ट मैसेज भेज और प्राप्त कर सकते थे परंतु एमएमएस की सहायता से आप टेक्स्ट के साथ-साथ ऑडियो, फोटोज तथा वीडियो को भेज और प्राप्त कर सकते हैं, इसलिए यह अधिक लोकप्रिय है।

MMS Full Form in Hindi :- 


MMS का फुल फॉर्म मल्टीमीडिया मैसेजिंग सर्विस होता है इसी के फुल फॉर्म का हिंदी मतलब मल्टीमीडिया संदेश सेवा होता है और इसी को हम एमएमएस का हिंदी फुल फॉर्म भरते हैं। 

  • MMS - मल्टीमीडिया संदेश सेवा

MMS क्या होता हैं :- 


जैसा की मैंने ऊपर बताया कि MMS का फुल फॉर्म multimedia messaging service होता हैं तथा इसको हिंदी में मल्टीमीडिया संदेश सेवा कहते हैं।

MMS की सहायता से हम किसी भी व्यक्ति को टेक्स्ट मैसेज के साथ-साथ ग्राफिक्स, फोटोज, ऑडियो तथा वीडियोस को भी भेज सकते हैं, तथा दूसरे व्यक्ति से प्राप्त भी कर सकते हैं। 

SMS से केवल टेक्स्ट मैसेज को ही भेजा तथा प्राप्त किया जा सकता है परंतु एमएमएस की सहायता से हम टेक्स्ट मैसेज के साथ-साथ उसने ऑडियो, वीडियो या फिर ग्राफिक्स को भी लगा कर भेज सकते हैं।

एमएमएस का उपयोग हम सभी डिवाइस में नहीं कर सकते हैं इसका उपयोग हम केवल उसी डिवाइस से कर सकते हैं जिसमें यह सपोर्ट करता है।
एमएमएस की सुविधा मोबाइल फोन, स्मार्टफोन, टेबलेट तथा पर्सनल कंप्यूटर की सहायता से आप आसानी से उठा सकते हैं। 

इस सुविधा का आनंद आप अपने 2G, 3ग तथा 4G सपोर्ट करने वाले फोन में आसानी से ले सकते हैं, बस फर्क सिर्फ इतना है कि 2G में इसकी स्पीड कम होती है तथा 3G की स्पीड अधिक होती है और इसके अलावा 4G की स्पीड सबसे अधिक तेज होती हैं।


MMS का प्रयोग कहाँ होता हैं :-


जैसा की मैंने आपको ऊपर बताया कि MMS का प्रयोग आप केवल उसी डिवाइस से कर सकते हैं जिन डिवाइस में mms को सपोर्ट करने कि सुविधा होती हैं। 

MMS का प्रयोग आप मोबाइल फ़ोन, स्मार्ट फ़ोन, कंप्यूटर जैसे डिवाइस में आसानी से कर सकते हैं, और इसका लाभ उठा सकते हैं।

MMS की सेवा केवल उन्ही डिवाइस को दिया जाता हैं जो पूरी तरह से इसका समर्थन करते हैं। 

कुछ डिवाइस के नाम इस प्रकार से हैं जो इसका (mms) का समर्थन करते हैं- 


  • Smart Phones
  • mobile Phone
  • Handheld Device
  • Tablets 
  • Personal Computer
  • Personal Digital Cellular etc.


MMS से लाभ और हानि :- 


MMS से हमें बहुत से प्रकार के लाभ होते हैं परन्तु MMS से हमें थोड़ा बहुत हानियाँ भी होती हैं, क्यूंकि जहाँ लाभ होता हैं वहां पर कोई ना कोई हानि जरूर होती हैं। 

तो आइये जानते हैं कि MMS से हमें क्या लाभ तथा क्या हानि होती हैं-

MMS से लाभ :- 


MMS से हमें बहुत से लाभ होते हैं जो इस प्रकार से हैं-

  1. MMS की सहायता से हम किसी व्यक्ति को टेक्स्ट के साथ-साथ वीडियो फाइल, ऑडियो तथा ग्राफिक्स को भी भेज सकते हैं, एसएमएस में केवल टेक्स्ट को ही भेजा और प्राप्त किया जा सकता है। 
  2. ट्रांसमिशन की गति बहुत ही तीव्र होती है इसलिए आप संदेश का तीव्र गति से आदान-प्रदान कर सकते हैं। 
  3. एक साथ कई व्यक्तियों को संदेश भेजनें अर्थात लंबे समय तक लेनदेन की सुविधा प्रदान करता है।
  4. इसकी सहायता से किसी भी व्यक्ति को आसानी से मल्टीमीडिया का संदेश भेजा जा सकता है तथा किसी से प्राप्त भी किया जा सकता है।
  5. इसमें 160 कैरेक्टर से अधिक का टेक्स्ट भी लिख सकते हैं तथा साथ में कोई भी फाइल अटैच कर सकते हैं।
  6. इसकी सहायता से आप किसी भी प्रकार का डाटा सेंड और रिसीव कर सकते हैं।


MMS से हानियां :- 


एमएमएस से होने वाली हानियां कुछ इस प्रकार से है-

  1. इसमें सिक्योरिटी की सुविधा कम है इसलिए आपके डाटा की चोरी होने की भी संभावना भी होती है। 
  2. यदि आप ज्यादा बड़ी फाइल को अटैच करके मैसेज सेंड करते हैं तो मैसेज सेंड होने में थोड़ा टाइम भी लग सकता है।


आज आपने क्या सीखा :-


आज इस आर्टिकल में हमने एमएमएस से संबंधित कुछ नई जानकारियों को प्राप्त किया, इस आर्टिकल में हमने एमएमएस का फुल फॉर्म, एमएमएस क्या होता है, एमएमएस से लाभ तथा हानि तथा इसके अलावा और भी जानकारी प्राप्त की।

दोस्तों अगर आपने हमारे इस आर्टिकल mms ka full form को पूरा पढ़ा होगा तो अब तक आपको कुछ ना कुछ जानकारी जरूर प्राप्त हुईं होंगी। 

दोस्तों हमारा यह आर्टिकल आपको कैसा लगा हमें नीचे कमेंट करके जरूर बताएं तथा यदि हमारे इस आर्टिकल से संबंधित आपके मन में कोई प्रश्न हैं तो वह भी हमें कमेंट करके जरूर बताये।

यदि आप हमसे कुछ पूछना चाहते हैं या हमसे बात करना चाहते हैं तो आप हमें नीचे कमेंट करके बताये, मुझे आपके फीडबैक का इंतज़ार रहेगा।

यदि हमारा यह आर्टिकल mms ka full form आपको अच्छा लगा हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ तथा सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर भी शेयर करें (धन्यवाद)