Ticker

6/recent/ticker-posts

मैकेनिकल (mechanical) engineering क्या हैं।

Mechanical engineering


हैल्लो दोस्तों उम्मीद करता हूं कि आप सभी लोग अच्छे होंगे।दोस्तों आज के हमारे इस आर्टिकल का टाइटल है mechanical engineering kya hai.

आज इस आर्टिकल में हम आपको मैकेनिकल इंजीनियरिंग के बारे में जानकारी देने वाले हैं अगर आपको मैकेनिकल इंजीनियरिंग से संबंधित किसी भी प्रकार की जानकारी को प्राप्त करना है तो आप हमारे इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें, मैं पूरे यकीन के साथ कहता हूं कि हमारा यह आर्टिकल पढ़कर आपको आपके उस प्रश्न का उत्तर मिल जाएगा जिसको खोजते हुए आप हमारे इस ब्लॉग पर आए हैं।

इस आर्टिकल के अंदर हम आपको mechanical engineering kya hai, mechanical engineers कैसे बने, मैकेनिकल इंजीनियर के बाद आगे जॉब्स के अवसर तथा मैकेनिकल इंजीनियर्स की सैलरी आदि के बारे में आपको जानकारी देंगे।


Mechanical engineering kya hai :- 

मैकेनिकल इंजीनियरिंग एक प्रकार की इंजीनियरिंग की पढ़ाई होती है जिसको करने के बाद लोग इंजीनियर बन जाते हैं। 
मैकेनिकल इंजीनियरिंग, सिविल इंजीनियरिंग की भाँति एक बहुत ही पुरानी इंजीनियरिंग की ब्राँच हैं जिससे बनी वस्तुओं का हम रोज उपयोग करते हैं। 

आज हम जो विभिन्न प्रकार की गाड़ियों जैसे मोटरसाइकिल,  साइकिल, बस, ट्रेन, हवाई जहाज तथा और अन्य प्रकार के मोटर्स (पानी वाला मोटर), कंप्यूटर इत्यादि का यूज कर रहे हैं वह सभी मैकेनिकल इंजीनियरिंग की ही देन है,  इन सब सामानों को बनाने में इसके डिजाइनिंग तथा डेवलपमेंट मैकेनिकल इंजीनियर द्वारा ही किया गया हैं।

मैकेनिकल इंजीनियरिंग ब्रांच में भी बहुत से प्रकार की टाइप्स होती है जिनका अपना अलग-अलग काम होता है जैसे मैकेनिकल इंजीनियरिंग ऑटोमोबाइल तथा मैकेनिकल इंजीनियरिंग प्रोडक्शन यह दोनों मैकेनिकल इंजीनियरिंग ब्रांच की दो अलग-अलग पढ़ाई है जिनका अपना अलग-अलग काम होता है। 

Mechanical engineers का काम :- 

Mechanical engineering

मैकेनिकल इंजीनियरिंग में कई प्रकार के काम होते हैं जिनमे इससे कुछ इस प्रकार से है- 

मैकेनिकल इंजीनियर का काम मशीनों को बनाना, मशीनों के पार्ट को बनाना तथा ऑटोमोबाइल वाहनों जैसे हवाई जहाज़, हेलीकॉप्टर, बस, ट्रक तथा मोटरसाइकिल इत्यादि को बनाने में होता है।
इन सबके अलावा और भी बहुत से प्रकार के काम होते हैं जो मैकेनिकल इंजीनियरों के द्वारा किए जाते हैं। 

Mechanical engineers कैसे बनें :- 

Mechanical engineers

मैकेनिकल इंजीनियर बनने के लिए आपको कम से कम 10th की परीक्षा उत्तीर्ण करनी होती है। 
मैकेनिकल इंजीनियर बनने के लिए आपको किसी इंजीनियरिंग कॉलेज से मैकेनिकल इंजीनियरिंग ट्रेड से डिग्री प्राप्त करनी पडती हैं या आप मैकेनिकल इंजीनियरिंग ट्रेड से डिप्लोमा का सर्टिफिकेट लेकर भी मैकेनिकल इंजीनियर बन सकते हैं। 

मैकेनिकल इंजीनियरिंग (डिग्री) :- 


मैकेनिकल इंजीनियरिंग की डिग्री प्राप्त करने के लिए आपको 12th की परीक्षा उत्तीर्ण करनी पड़ती है तथा उसके बाद किसी इंजीनियरिंग कॉलेज से मैकेनिकल इंजीनियरिंग ब्रांच से 4 साल पढ़ाई करनी पड़ती है, इसके बाद आपको मैकेनिकल इंजीनियरिंग की डिग्री मिल जाती है।

मैकेनिकल इंजीनियरिंग (डिप्लोमा) :- 


वही मैकेनिकल इंजीनियरिंग से डिप्लोमा का सर्टिफिकेट प्राप्त करने के लिए आपको कम से कम 10th की परीक्षा उत्तीर्ण  करनी पड़ती है तथा उसके बाद किसी गवर्नमेंट या प्राइवेट कॉलेज से मैकेनिकल इंजीनियरिंग ब्रांच से 3 साल पढ़ाई करनी पड़ती है उसके बाद आपको मैकेनिकल इंजीनियरिंग के डिप्लोमा का सर्टिफिकेट मिल जाता है। 

12th के बाद क्या करें :- Click here

मैकेनिकल इंजीनियरिंग  कॉलेज में एडमिशन के लिये योग्यता :- 

मैकेनिकल इंजीनियर बनने के लिये लिये आपको पहले मैकेनिकल इंजीनियरिंग ब्रांच से पढ़ाई करके इसकी डिग्री या डिप्लोमा को प्राप्त करना होता हैं। 
डिग्री कॉलेज और डिप्लोमा कॉलेज में एडमिशन के लिये अलग अलग योग्यता होती हैं, जो इस प्रकार से हैं। 

(डिप्लोमा) मैकेनिकल इंजीनियरिंग कॉलेज में एडमिशन के लिये योग्यता :- 

मैकेनिकल इंजीनियरिंग का डिप्लोमा प्राप्त करने के लिए आपको किसी गवर्नमेंट या प्राइवेट कॉलेज से मैकेनिकल इंजीनियरिंग ब्रांच में एडमिशन लेना पड़ेगा। 
मैकेनिकल इंजीनियरिंग का डिप्लोमा प्राप्त करने के लिए आपको कम से कम 10th की परीक्षा उत्तीर्ण करनी होती है तभी आप मैकेनिकल इंजीनियरिंग कॉलेज में एडमिशन के योग्य होंगे अन्यथा नहीं। 

(डिग्री) मैकेनिकल इंजीनियरिंग कॉलेज में एडमिशन के लिए योग्यता :- 

यदि आप मैकेनिकल इंजीनियरिंग कॉलेज की डिग्री प्राप्त करना चाहते हैं तो आपको कम से कम 12th की परीक्षा physics, chemistry तथा math (PCM) के साथ 60% मार्क्स के द्वारा उत्तीर्ण होने चाहिए। 
यदि आपके पास 12th में (pcm) सब्जेक्ट के साथ 60% मार्क्स हैं तभी आप मैकेनिकल इंजीनियरिंग के डिग्री कॉलेज में एडमिशन के योग्य होंगे अन्यथा नहीं। 

Mechanical engineering सब्जेक्ट :-

मैकेनिकल इंजीनियरिंग कॉलेजों में पढ़ायें जाने वाले कुछ सब्जेक्ट के नाम इस प्रकार से हैं- 

Semester 1 :- 

Physics-1, Chemistry, Mathematics, Chemistry Laboratory, Workshops/physics laboratory, engineering drawing, physics training-1. 

Semester 2 :- 

Introduction to computing,  physics-।। , chemistry-।।, engineering mechanics, computing laboratory, basic electronics laboratory physics laboratory/workshop, physics training-।। 

Semester 3 :- 

Solid mechanics-।, mathematics-।।।, thermodynamics, enginneering materials, HSS elective-।, machine drawing, physical training -।।। 

Semester 4 :- 

Solid mechanics-।।, manufacturing technology-।, fluid mechanics-।, kinematics of machinery, HSS elective-।।, workshop-।।, mechanical lab-।, physical training-।v

ऊपर दिए गए मैकेनिकल इंजीनियरिंग में पढ़ाए जाने वाले कुछ सब्जेक्ट के नाम हैं यह सब्जेक्ट 1 से लेकर 4 सेमेस्टर तक पढ़ाए जाते हैं इसी प्रकार से 4 सेमेस्टर और भी होते हैं जिनमें अलग-अलग सब्जेक्ट पढ़ाये जाते हैं अगर आपको उन चारों सब्जेक्ट के बारे में जानना है तो हमें नीचे कमेंट करके बताना हम वह चारों सब्जेक्ट को भी ऐड कर देंगे।

मैकेनिकल इंजीनियरिंग करने के बाद जॉब्स के अवसर (Mechanical engineering jobs) :- 

Mechanical engineers jobs

मैकेनिकल इंजीनियरिंग ब्रांच से इंजीनियरिंग करने के बाद आगे हमें जॉब्स के लिए जाता कठिनाइयों का सामना नहीं करना पड़ता है क्योंकि आज के समय में मैकेनिकल इंजीनियर की मांग बहुत अधिक है। 
आप मैकेनिकल से इंजीनियरिंग करने के बाद टाटा ग्रुप, थिसेन ग्रुप, लार्सन, टूब्रो ग्रुप, गोजरेज ग्रुप तथा किर्लोस्कर ग्रुप में जॉब पाकर एक बहुत ही अच्छी सैलरी प्राप्त कर सकते हैं।
यदि आप यहां पर जॉब नहीं पाते हैं तो बहुत सी कंपनियां ऐसी हैं जहां पर आप आसानी से जॉब के लिए अप्लाई कर सकते हैं और वहां पर जॉब प्राप्त करके एक अच्छी खासी सैलरी प्राप्त कर सकते हैं। 

जहां तक मुझे लगता है आज के समय में यदि किसी ने भी मैकेनिकल से इंजीनियरिंग कर ली तो वह खाली नहीं बैठेगा क्योंकि आज हमारा देश इतना आगे बढ़ चुका है कि हमेशा बहुत से जगहों पर ऐसे काम चलते रहते हैं जहां पर मैकेनिकल इंजीनियरों की मांग होती है तथा वहां पर जॉब के लिए अप्लाई कर के आप आसानी से जॉब प्राप्त कर सकते हैं।

मैकेनिकल इंजीनियर्स की सैलरी (mechanical engineering salary) :-

Mechanical engineers salary

मैकेनिकल इंजीनियरिंग करने के बाद यदि आपको किसी बढ़िया कंपनी में जैसे टाटा ग्रुप, थिसेन ग्रुप, गोजरेज ग्रुप में जॉब्स में जॉब्स मिल जाती हैं तो आपकी शुरुआत में 2 से 5 लाख तक एक साल की सैलरी रेंज होगी तथा जब आपके पास थोड़ा एक्सपीरियंस हो जाएगा तो आप आसानी से एक साल का 10 लाख की रेंज में सैलरी प्राप्त कर सकेंगे। 

यदि आप यहाँ जॉब्स नहीं पाते हैं तो कही किसी और कम्पनी में कोई जॉब्स पाकर आसानी से 20000-40000/month की सैलरी प्राप्त कर सकते हैं। 

Civil engineering full information :- Click here

आज आपने क्या सीखा :- 

दोस्तों आज इस आर्टिकल में हमने मैकेनिकल इंजीनियरिंग के बारे में जानकारी प्राप्त की आर्टिकल के अंदर हमने यह जानना की मैकेनिकल इंजीनियरिंग क्या है, मैकेनिकल इंजीनियर्स का काम क्या होता है, मैकेनिकल इंजीनियर कैसे बने, मैकेनिकल इंजीनियरिंग के बाद जॉब्स के अवसर तथा इसके अलावा मैकेनिकल इंजीनियर की सैलरी के बारे में जानकारी प्राप्त की। 
 
मैं उम्मीद करता हूं दोस्तों हमारा यह आर्टिकल mechanical engineering kya hai पढ़कर आपको आपके प्रश्न का उत्तर मिल गया होगा तथा हमारे इस आर्टिकल को पढ़कर आपको बहुत-सी प्रकार की नई जानकारी प्राप्त हुई होगी दोस्तों अगर आपको हमारी यह जानकारी पसंद आई हो तो इससे आप अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करें। 


उम्मीद करता हूं दोस्तों हमारा यह आर्टिकल mechanical engineering kya hai आपको जरूर पसंद आया होगा। 
दोस्तों अगर हमारे इस आर्टिकल से संबंधित आपके मन में कोई प्रश्न है तो हमें नीचे कमेंट करके जरूर बताएं तथा इसके अलावा भी यदि आप हमसे कुछ पूछना चाहते हैं तो वह भी हमें नीचे कमेंट करके जरूर बताएं मुझे आपके प्रश्नों का इंतजार रहेगा।
दोस्तों यदि आप हमसे किसी टॉपिक पर आर्टिकल लिखवाना चाहते हैं तो हमें नीचे कमेंट करके बताएं मैं आपकी सहायता के लिए उस टॉपिक पर आर्टिकल जरूर लिखूंगा। (धन्यवाद)



Post a Comment

0 Comments