Ticker

6/recent/ticker-posts

kyc full form in hindi

हेल्लो दोस्तों आज किस आर्टिकल में हम KYC के बारे में आपको बताएंगे। आज के इस आर्टिकल का टाइटल KYC full form in hindi है। 

इस आर्टिकल के अंदर हम KYC का full form, KYC क्या होता है, KYC form भरने के लिये लगने वाले डाक्यूमेंट्स, KYC का महत्व, KYC के लाभ, KYC के प्रकार वा KYC क्यों जरुरी है इन सभी टॉपिक्स को आपको बताएँगे।

दोस्तों अगर आपको KYC  के बारे में जानकारी प्राप्त करना है तो हमारे इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें।


Kyc form,kyc


KYC Full Form :- 


KYC का फुल फॉर्म know your customer होता है।जिसका हिंदी में अर्थ होता है अपने ग्राहक को जानिये। जैसा कि इसके फुल फॉर्म से ही समझ में आता है कि अपने कस्टमर के बारे में जानकारी प्राप्त करने के लिए इस फॉर्म को किसी कंपनी या बैंक द्वारा भरवाया जाता है या यूँ कहे तो अपने ग्राहक के बारे में जानकारी प्राप्त करने के लिए सभी कंपनियां व बैंक एक फॉर्म fill करवाती है जिसे KYC फॉर्म कहते है।



Know your customer,kyc


KYC क्या होता है :- 


KYC कस्टमर्स की एक आईडेंटिफिकेशन होती है जिसको RBI ने शुरुआत किया था इससे बैंक को अपने कस्टमर्स के बारे में किसी भी प्रकार की जानकारी प्राप्त करने में उसे सरलता होती है।

 
ऐसा कोई भी व्यक्ति जिसका किसी बैंक में अकाउंट है वह व्यक्ति अपनी एक आइडेंटी लेकर बैंक से केवाईसी फॉर्म लेकर उस फॉर्म को फिल करके तथा उसके साथ तक अपना डॉक्यूमेंट लगाकर बहुत ही आसानी से अपना केवाईसी फॉर्म जमा करा सकता है।  केवाईसी फॉर्म  जमा होने से बैंक वालों को अपने कस्टमर को ढूंढने में आसानी होती है तथा इससे धोखाधड़ी और चोरी जैसी घटनाओं की संभावना बहुत कम हो जाती है।


Kyc images,kyc pics,kyc form,kyc


जब कोई कस्टमर खाता खुलवाने आता है तो सभी बैंक उसी टाइम  उस व्यक्ति से केवाईसी फॉर्म भरवा लेता है जिससे बैंक वालों को उस वक्त के बारे में जानकारी प्राप्त हो जाती है और यह भी पता लग जाता है कि उसके पास पैसा कितना है उसकी आमदनी कहां से होती है तथा क्या उसके पास काला धन तो नहीं है यह सब कुछ पता चल जाता है। 


KYC के लिये आवश्यक डाक्यूमेंट्स :- 


KYC फॉर्म fill करते समय एक पासपोर्ट साइज फोटो तथा अपना कोई एक पहचान पत्र जैसे - आधार कार्ड, पैन कार्ड, वोटर आईडी या ड्राइवरी लाइसेंस के साथ बैंक से KYC फॉर्म लेकर तथा उस फॉर्म को फिल करके उसको बैंक में जमा करना होता है।

KYC फॉर्म के महत्व :- 


KYC  form एक महत्वपूर्ण दस्तावेज होता है क्योंकि जब हमें कोई वित्तीय सुविधा दी जाती है या जब हम बैंक से किसी लोन के लिए अप्लाई करते हैं तो बैंक वालों को हमारी पहचान करने में KYC फॉर्म  महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है तथा  इसके अलावा केवाईसी फॉर्म सबमिट होने से बैंक वालों को हमें पहचानने में बहुत सहायता मिलती है इससे धोखाधड़ी और चोरी जैसी घटनाओं की संभावनाएं बहुत कम हो जाती है।

KYC के प्रकार :- 


KYC  दो प्रकार का होता है जो निम्नलिखित प्रकार से है। 

  1. EKYC
  2. CKYC

EKYC :- 


इसका पूरा नाम Electronic know your customer होता है। EKYC एक कागज रहित KYC प्रक्रिया होती है जो कस्टमर के बारे में डिजिटल रूप से या यूं कहे तो ऑनलाइन ही बताती है। 

CKYC :- 


इसका पूरा नाम Central know your customer होता है। वैसे KYC तो  भारत के लगभग सभी बैंकों में किया जाता है चाहे वह बैंक प्राइवेट बैंक हो या गवर्नमेंट बैंक हो लेकिन जिसका central स्तर पर KYC  किया जाता है उसे CKYC कहते हैं। 


KYC क्यों जरुरी है :- 


KYC जरुरी क्यों है इसके निम्नलिखित कारण है जो इस प्रकार से है - 

  • Black money के नियंत्रण में सहायक होता है। 
  • इससे customer के बारे में जानकारी प्राप्त करने में मदद मिलती है वा customer के बारे में किसी प्रकार की जानकारी को आसानी से प्राप्त कर सकते है। 
  • धोखा-धड़ी वा चोरी-डकैती जैसी घटनाओं की संभावना कम हो जाती है। 
  • वित्तीय सुविधा मिलने पर customers को पहचानने में मदद मिलती है।

KYC के लाभ  :- 


KYC से हमें बहुत से प्रकार के लाभ होते है जो निम्नलिखित प्रकार से है। 

  • ये सुविधा सभी customers के लिये free होती है। 
  • इसकी मदद से बैंक वालो को अपने customers के बारे में जानकारी प्राप्त हो जाती हैं। 
  • बैक वालो को अपने कस्टमर्स को ढूंढ़ने में मदद मिलती है। 
  • इसकी मदद से धोखा-धड़ी वा चोरी जैसे घटनाओं की संभावनाएं कम हो जाती है।
  • इसकी processing बहुत हीं फ़ास्ट होती है, जिससे बहुत कम समय लगता है और बहुत हीं कम समय में बैंक account खुल जाता है तथा mobile सिम का वेरिफिकेशन भी जल्दी हो जाता है। 

आपने क्या सीखा :- 


इस आर्टिकल के अंदर हमने KYC के बारे में बहुत हीं डिटेल्स में जानकारी प्राप्त की, इस आर्टिकल में हमने KYC full फॉर्म से लेकर KYC के लाभ तक सभी टॉपिक्स पर बहुत हीं डिटेल्स में बताया है। और इस आर्टिकल में हमने KYC के बारे में जानकारी प्राप्त की है। 



उम्मीद करता हूँ दोस्तों हमारा ये आर्टिकल kyc full form in hindi आपको जरूर पसंद आया होगा और इस आर्टिकल को पढ़कर आपको kyc के बारे में पता चल गया होगा। 

दोस्तों इस आर्टिकल को लेकर या इससे रिलेटेड यदि आपके मन में कोई प्रश्न हो तो हमें नीचे कमेंट करके जरूर बताये.

यदि आपको किसी टॉपिक पर आर्टिकल लिखवाना है तो मुझे नीचे कमेंट करके बताये में उस टॉपिक पर आर्टिकल जरूर लिखूंगा। 

Post a Comment

0 Comments