Ticker

6/recent/ticker-posts

IIT Ka Full Form क्या होता हैं तथा IIT क्या होता हैं सारी जानकारी हिंदी में

Iit


आज के हमारे इस आर्टिकल का टाइटल iit ka full form हैं, इस आर्टिकल में हम आपको आईटीआई के बारे में जानकारी देने वाले हैं। 

इस आर्टिकल में हम आईआईटी से संबंधित सभी प्रकार की जानकारियों को देने वाले हैं, अगर आपको भी आईआईटी से संबंधित किसी भी प्रकार की जानकारी को प्राप्त करना है तो आप हमारे इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें। 

मैं पूरे यकीन के साथ रहता हूं कि हमारा यह आर्टिकल पढ़कर आपको आपके उस प्रश्न का उत्तर मिल जाएगा जिसको खोजते हुए आप हमारे इस ब्लॉग पर आए हैं।

इस आर्टिकल में हम iit ka full form, iit क्या हैं, iit का इतिहास, iit colleges के नाम, iit में एडमिशन के लिये योग्यता, iit करने के फायदे, iit बारे में बाद जॉब्स के अवसर  तथा सैलरी की जानकारी देने वाले हैं, चलिए शुरु करते हैं।


IIT Ka Full Form :- 


शायद आपको आईआईटी के बारे में पहले से ही पता हो परंतु बहुत से लोग ऐसे होंगे जिनको इसके बारे में नहीं पता होगा तो आइए सबसे पहले आईआईटी का फुल फॉर्म जान लेते हैं। 

IIT Ka Full Form in English :- 


आईआईटी का फुल फॉर्म Indian Institute Of Technology होता है। IIT में उपस्थित तीनों अक्षरों का अपना अलग-अलग अर्थ होता है जो कि इस प्रकार से हैं-


I -  Indian 
I -  Institute of
T - Technology. 


IIT Ka Full Form in Hindi :- 


आईआईटी के फुल फॉर्म का हिंदी मतलब भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान होता है। यह आईआईटी शब्द के इंग्लिश फुल फॉर्म का हिंदी अर्थ होता है।


I - Indian (भारतीय)
I - Institute (संस्थान)
T- Technology (प्रौद्योगिकी)


IIT Ka Full Form Kya Hota hai :-


जैसा कि मैंने आपको ऊपर बताया की IIT का फुल फॉर्म indian institute of technology होता है जिसका हिंदी मतलब भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान होता है, इसको पढ़कर अब तक आपको ये पता चल गया होगाा कि आईआईटी का फुल फॉर्म क्या होता है।

IIT  kya hai :- 


iit ka full form


आईआईटी में इंजीनियरिंग की पढ़ाई होती है जिसमें पढ़ाई करके स्टूडेंट बहुत अच्छे इंजीनियर बन जाते हैं और आगे चलकर उनको देश में तथा देश के बाहर भी एक बहुत ही अच्छी-सी जॉब मिल जाती है और वह स्टूडेंट जॉब करके एक अच्छा पैकेज प्राप्त करते हैं।

आईआईटी को भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान भी कहते हैं हमारे देश में आईआईटी के कुल 23 कॉलेजेस हैं जिनमें पढ़ाई करने के लिए हमको आईआईटी एंट्रेंस एग्जाम को क्लियर करना पड़ता है इसके एंट्रेंस एग्जाम की परीक्षा बहुत थी हार्ड होती है। 


IIT का इतिहास :- 


हमारे देश भारत में सर्वप्रथम सन 1951 में प्रथम आईआईटी कॉलेज की स्थापना खड़कपुर में की गई थी। तथा इसके अलावा सन 2016 में भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान धारवाड़ में अंतिम आईआईटी कॉलेज की स्थापना की गई थी। 
 
भारत में वर्तमान समय में 23 आईआईटी इंस्टिट्यूट उपस्थित है।


भारत के 23 आईआईटी इंस्टिट्यूट कहां पर उपस्थित है तथा उनको कब संस्थापित किया गया :-


जैसा कि मैंने आपको बताया भारत में कुल 23 आईआईटी इंस्टिट्यूट उपस्थित हैं अब आइए जानते हैं कि यह 23 आईआईटी इंस्टिट्यूट कहां कहां पर है-

  • भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, खड़गपुर (सन 1951)
  •  भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, मुंबई (सन 1958)
  •  भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, कानपुर (सन 1959)
  • भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, मद्रास (सन 1959)
  •  भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, दिल्ली (सन 1963)
  • भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, गुवाहाटी (सन 1994)
  • भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, रुड़की (सन 2001)
  •  भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, रोपड़ (सन 2008)
  • भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, भुवनेश्वर (सन 2008)
  • भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, गांधीनगर (सन 2008)
  •  भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, हैदराबाद (सन 2008)
  • भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, जोधपुर (सन 2008)
  •  भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, पटना (सन 2008)
  •  भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, इंदौर (सन 2009)
  •  भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, मंडी (सन 2009)
  • भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, वाराणसी (सन 2012)
  • भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, पलक्कड़ (सन 2015)
  • भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, तिरुपति (सन 2015)
  • भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, धनबाद (सन 2016)
  • भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, भिलाई (सन 2016)
  •  भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, गोवा (सन 2016)
  •  भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, जम्मू (सन 2016)
  •  भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, धारवाड़ (सन 2016)

IIT कॉलेज में एडमिशन लेने के लिये योग्यता :- 


iit


अगर आपको आईआईटी कॉलेज में एडमिशन लेना है तो सबसे पहले आपको 12वीं की परीक्षा उत्तीर्ण करनी पड़ती है परंतु 12वीं में आपके सब्जेक्ट में गणित(math) अनिवार्य होता है। 

आईआईटी कॉलेज में एडमिशन के लिए आपको एंट्रेंस एग्जाम देना पड़ता है इसकी परीक्षा दो चरणों में आयोजित की जाती है,  सबसे पहले आपको pre exam क्लियर करना होता है जब आप pre exam क्लियर कर लेंगे तो आपको mains exam देना पड़ता है जब आप यह दोनों एग्जाम क्लियर कर लेंगे तो आप आईआईटी इंस्टीट्यूट में ऐडमिशन के योग्य हो जाते हैं। 

आईआईटी का एग्जाम बहुत ही कठिन होता है आपको इसका एग्जाम देने से पहले इसकी अच्छी तैयारी करनी पड़ती है।

IIT एंट्रेंस एग्जाम के प्रश्न :-


आईआईटी एंट्रेंस एग्जाम में आपसे तीन सब्जेक्ट के क्वेश्चन पूछे जाते हैं जिनके नाम इस प्रकार से हैं-
  •  गणित (Math)
  •  भौतिक विज्ञान (Physics)
  •  रसायन विज्ञान (Chemistry)
आपको आईआईटी के एंट्रेंस एग्जाम को देने से पहले इन तीनों सब्जेक्ट के बारे में अच्छी तरह से जानकारी प्राप्त कर लेनी चाहिए तभी आप इस एग्जाम को क्लियर कर पाएंगे क्योंकि आईआईटी की परीक्षा बहुत ही कठिन होती है। 

Full Form of IIT-JEE :- 


IIT JEE का फुल फॉर्म Indian Institute of Technology Joint Entrance Examination होता है। 

IIT करने के फायदे :- 


आईआईटी की पढ़ाई करने से हमें बहुत से प्रकार के फायदे होते हैं जिनमें से कुछ इस प्रकार से हैं :- 

  1. जब आप आईआईटी की पढ़ाई कर लेते हैं तो आपको इंजीनियरिंग के साथ-साथ और भी बहुत से प्रकार की जानकारी प्राप्त हो जाती हैं आईआईटी में आपको समाज के बारे में भी शिक्षा दी जाती है जिससे आप समाज की सेवा भी कर सकते हैं तथा आईआईटी करके आप एक अच्छे इंजीनियर भी बन जाते हैं। 
  2. आईआईटी करने के बाद आपको नौकरी के लिए इधर-उधर भटकना नहीं पड़ता जब आपकी पढ़ाई खत्म हो जाती है तो बहुत-सी कंपनियां खुद ही आपके पास नौकरी लेकर आती है।
  3. आईआईटी के पढ़ाई करने से लोगों में आप के प्रति सम्मान बढ़ जाता है। 
  4. आईआईटी की पढ़ाई करने के बाद आपको एक अच्छी कंपनी में नौकरी मिलती है जहां पर आपको बहुत ही अच्छी सैलरी दी जाती है। 

IIT के बाद जॉब्स :- 


आईआईटी करने के बाद आपको जॉब के लिए इधर-उधर भटकना नहीं पड़ेगा बल्कि जब आपके आईआईटी की पढ़ाई पूरी हो जायेगी तो बहुत सी कंपनी वाले आपसे खुद कांटेक्ट करेंगे और आपको नौकरी करने के लिए निमंत्रण देंगे।

आईआईटी करने के बाद आपको बहुत सी कंपनियों से नौकरी के लिए निमंत्रण आएंगे। आईआईटी करने के बाद आप बहुत ही आसानी से जॉब प्राप्त कर सकते हैं और एक अच्छी खासी सैलरी प्राप्त कर सकते हैं।

सैलेरी (salary) :- 


आईआईटी के बाद आपकी सैलरी इस बात पर निर्भर करती है कि आप किस तरह की कंपनी में जॉब करते हैं तथा वहां पर आपका काम क्या होता है। 
वहां पर आप को सैलरी आपके काम के हिसाब से दी जाती है। आईआईटी इंजीनियर की एवरेज सैलेरी 11.1 लाख रुपए सालाना हैं। 


आज आपने क्या सीखा :- 


आज इस आर्टिकल में हमने आईआईटी से संबंधित सभी प्रकार की जानकारियों को प्राप्त किया इस आर्टिकल में हमने iit ka full form, iit क्या हैं, iit का इतिहास, iit colleges, iit कॉलेज में एडमिशन के लिए योग्यता, आईआईटी करने के फायदे, आईआईटी के बाद जॉब्स के अवसर तथा सैलरी के बारे में जानकारी प्राप्त की।

उम्मीद करता हूं दोस्तों हमारा यह आर्टिकल iit ka full form आपको जरूर पसंद आया होगा तथा हमारे इस आर्टिकल को पढ़कर आपको आपके इस प्रश्न का उत्तर मिल गया होगा जिस को खोजते हुए आप हमारे इस ब्लॉग पर आए थे। 

हमारा यह आर्टिकल आपको कैसा लगा हमें नीचे कमेंट करके जरूर बताएं यदि हमारे आर्टिकल से संबंधित किसी भी प्रकार का कोई प्रश्न आपके मन में है तो हमें नीचे कमेंट करके बताएं इसके अलावा भी यदि आपके मन में किसी भी प्रकार का कोई प्रश्न है तो वह भी हमें नीचे कमेंट करके जरूर बताएं मुझे आपके फ़ीडबैक का इंतजार रहेगा। 

अगर हमारा यह आर्टिकल iit ka full form आपको अच्छा लगा हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करें (धन्यवाद)



Post a Comment

0 Comments